कमलनाथ सरकार को मामा की चेतावनी- मध्यप्रदेश को नहीं बनने दूंगा बंगाल !

कमलनाथ सरकार को मामा की चेतावनी- मध्यप्रदेश को नहीं बनने दूंगा बंगाल !
Spread the love

इंदौर– रविवार को मतदान के बाद कुछ ऐसा हुआ जिससे पूरे प्रदेश की सियासत गरमा गई। सांवेर विधानसभा के पालिया गांव में भाजपा के कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर की कांग्रेस नेता ने गोली मारकर हत्या कर दी, इसके तुरंत बाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करके मुख्यमंत्री कमलनाथ और सांवेर के विधायक तुलसी सिलावट को सावधान करते हुए कहा कि हत्याओं का खेल मध्य प्रदेश की पावन धरती पर ना खेलें। हमारा मध्य प्रदेश एक शांति का टापू रहा है।

मामा ने चेतावनी देते हुए कहा कि हम मध्य प्रदेश को बंगाल नहीं बनने देंगे और ना ही गुंडा तंत्र को हावी होने देंग। लोगों को डराया धमकाया जा रहा है, यह भारतीय जनता पार्टी किसी कीमत पर सहन नहीं करेगी। कमलनाथ प्रदेश को कहाँ ले जाना चाहते हैं ? कांग्रेस की सरकार जब से आई है राजनीतिक विद्वेष की भावना से काम कर रही है। मध्य प्रदेश चुनाव में हिंसा की ऐसी घटना कभी नहीं हुई उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद जी ने जब भाजपा को वोट डालने की बात कही तो कांग्रेस के लोगो ने बादमे देख लेने की धमकी दी और शाम को घर मे घुस कर गोली मार दी। यह क्या है ? कानून व्यवस्था का मजाक उड़ाया जा रहा है…नागरिको को परेशान किया जा रहा है। मैं यह कतई बर्दाशत नही करूँगा।

सांवेर में बीजेपी कार्यकर्त्ता की गोली मारकर हत्या

रविवार शाम भाजपा कार्यकर्ता की हातोद स्थित ग्राम पालिया में गोली मारकर हत्या कर दी गई। यह हत्या प्रदेश में इस चुनाव के दौरान होने वाली पहली घटना है। एसएसपी मनीष खत्री ने बताया कि रविवार सुबह भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर और कांग्रेस नेता अरुण शर्मा के बीच विवाद हुआ जिस दौरान अरुण शर्मा ने नेमीचंद को वोटिंग के बाद देख लेने की धमकी दी थी और इसके बाद शाम को नेमीचंद के चेहरे पर गोली चला दी गई। मृतक के अलावा उनकी माँ पुष्पा बाई और बेटा बसंत भी छर्रे लगने से घायल हो गए। मृतक की माँ ने बताया कि गोली चलाने वाले अरुण शर्मा के बेटे थे। इलाज के दौरान भाजपा नेता नेमीचंद ने दम तोड़ दिया।

आपसी रंजिश के चलते कांग्रेस नेता ने पहले भी दी थी मारने की धमकी

मृतक के परिजन ने बताया कि नेमीचंद पालिया में बड़ी सक्रियता से भाजपा के प्रचार में जुटा था इसी के चलते कांग्रेस नेता अरुण शर्मा कईं बार धमकिया दे चुका था। घटना को लेकर पूर्व विधायक राजेश सोनकर ने आरोप लगाते हुए कहा कि अरुण विधायक तुलसी सिलावट का खास है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद उसके और उसके बेटो का गुंडाराज बड़ गया है। इस मामले पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने इसे राजनीतिक रंजिश में हत्या करार दिया।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED