कांग्रेस के प्रदर्शन में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, पुलिस ने दर्ज किया मामला!

कांग्रेस के प्रदर्शन में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, पुलिस ने दर्ज किया मामला!
Spread the love

इंदौर .  मध्य प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों का केंद्र माने जाने वाला इंदौर कोरोना वायरस के प्रकोप से बूरी तरह कहरा रहा है। शहर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 7 हजार के करीब पहुंच चुका है। इसिलिए इंदौर को देश के शीर्ष उन 10 शहरों की सूची में रखा गया है, जहां कोरोना के सबसे अधिक मामले हैं। मगर इनसब के बावजूद यहां के सियासतदां इनसब चीजों से बेखबर हैं। शायद उन्हें फर्क ही नहीं पड़ता। इंदौर में आज कांग्रेसियों का ऐसा  हुड़दंग देखने को मिला, मानों यह शहर कोरोना फ्री हो गया हो।

कोरोना संक्रमण की परवाह किए बिना सैकड़ों कांग्रेसी सरकार और प्रशासन के खिलाफ न सिर्फ सड़कों पर उतरे बल्कि कई लोगों की जिंदगी भी खतरे में डाल दिया। इस दौरान उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियाँ भी उड़ाईं।  दरअसल प्रदेश सरकार और प्रशासन के खिलाफ सोमवार को कांग्रेस सड़क पर उतर आई। चिंटू चौकसे के नेतृत्व में सरकार पर तानाशाहीपूर्ण रवैए का आरोप लगाते हुए पाटनीपुरा चैराहे पर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया गया। उनका कहना था कि सरकार और प्रशासन गरीबों, व्यापारियों, ठेलेवालों, बैंडवालों, सिटी बसकर्मियों और शहर की जनता पर अत्याचार कर रही है।C

इन्हीं की लड़ाई के लिए कांग्रेस के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन को मजबूर हुए हैं। इतना ही नहीं चिंटू चैकसे ने सीएम शिवराज को रावणरूपी बता दिया। कांग्रेसियों ने परदेशीपुरा चौराहे से पाटनीपुरा तक मार्च किया। इसमे  महिला, बच्चे, युवा बजुर्ग सब कोई शामिल था। ऐसे में सवाल उठता है कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में कैसे इस तरह का प्रदर्शन किया जा सकता है। इस दौरान पुलिसकर्मियों और कांग्रेसियों के बीच हलकी झड़प भी हुई। हालाँकि कांग्रेसियों को ये प्रदर्शन करना महंगा पड़ गया। परिदेसीपुरा पुलिस ने 200 से अधिक कांग्रेसियों पर मुकदमा दर्ज कर लिया। बता दें कि उपचुनाव को लेकर प्रदेश की सियासत गरमाई हुई है। चाहे सत्ता पक्ष हो या विरक्ष हर कोई कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ा रहा है।

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED