विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी के लिए बीजेपी में मंथन तेज!

विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी के लिए बीजेपी में मंथन तेज!
Spread the love

भोपाल –  एमपी में शिवराज सरकार बनने के बाद से मंत्री पद के संभावित दावेदारों की अटकलें जारी है। वहीं अब विधानसभा अध्यक्ष पद की रस्साकशी भी शुरू हो गई है । ऐसे में जो नाम निकलकर आ रहे हैं उनमें से तीन नाम ऐसे हैं जो सबसे ज्यादा इस पद के लिए योग्य बताए जा रहे हैं । ये नाम जातिगत समीकरणों के लिहाज से  सबसे ज्यादा चर्चाओं में हैं और अनुभव के आधार पर अब इन पर मंथन जारी है ।

सबसे पहला नाम गोपाल भार्गव का है जो ब्राहाम्ण होने के साथ ही सागर संभाग से आते हैं और यदि मंत्रिमंडल में माथापच्ची बढ़ी तो गोपाल भार्गव अपने नेता प्रतिपक्ष के अनुभव के आधार पर अब विधानसभा अध्यक्ष पद की रेस में सबसे ज्यादा आगे चल रहे  हैं। हालांकि भार्गव इसके लिए फिलहाल राजी है या नहीं ये अभी तय नहीं है ।

जबकि दूसरा नाम इस दौड़ में नागेंद्र सिंह नागोद का है जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक की ओर से सामने आया है। राजनीति में लंबा अनुभव और समीकरणों के लिहाज से सामंजस्य की नीति नागेंद्र सिंह के नाम को इस रेस में दूसरे नंबर पर रखती है । हालांकि नेताओं के बीच कैसे इस नाम पर सहमति बन पाती है, ये फिलहाल तय नहीं है ।

जबकि तीसरा नाम पूर्व मंत्री जगदीश देवड़ा का है, जो सीएम शिवराज की पसंद भी माने जाते हैं । देवड़ा का नाम विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए बीजेपी संगठन ने ही आगे बढ़ाया है ताकि समीकरण गड़बड़ाने पर ये नाम तय कराया जा सके । सूत्रों की मानें तो मंत्रिमंडल गठन के साथ ही क्षेत्रवार नेताओं के नामों पर मंथन होगा और फिर विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी का किस्सा शुरू होगा ।

तीनों नेताओं को सियासी अनुभव और बीजेपी के अंदरूनी माहौल को मद्देनजर रखते हुए अंतिम फैसला होना है, उससे पहले मंत्रिमंडल गठन की माथापच्ची बाकी है ऐसे ये देखना दिलचस्प हो जाएगा कि तमाम अटकलों के बीच कैसे भारतीय जनता पार्टी अपना नया विधानसभा अध्यक्ष तय करा पाती है ।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED