बारिश की बूंदों के बीच निकला झांकियों का कारवां, इंदौर की परंपरा ने बनाया ये कीर्तिमान!

बारिश की बूंदों के बीच निकला झांकियों का कारवां, इंदौर की परंपरा ने बनाया ये कीर्तिमान!
Spread the love

इंदौर:- इंदौर में अनंत चतृर्दशी पर निकलने वाली झांकियों की परंपरा को तमाम अड़चनों के बाद भी कायम रही.पुरे दम ख़म के साथ ढोल-नगाड़ो और अखाड़ों के साथ 28 झिलमिल झांकियों का कारंवा इंदौर की गलियों से गुजरा. इंदौर के प्रसाशनिक अमले के कप्तान कलेक्टर लोकेश जाटव और पुलिस महकमे की कप्तान एसएसपी रूचिवर्धन मिश्र ने पूजा अर्चना कर झांकियों का कारवां को प्रारम्भ किया. फिर इंदौर की गलियों से एक के बाद एक. एक से बढ़कर एक झांकिया निकलना शुरू हुई.

आखिरकार जब बूंदों की थिरकन थमने लगी तो उत्सवी परंपरा का उल्लास आल्हाद में बदल गया। संभवत: पहली बार ऐसी स्थिति बनी जब झांकियों के दौरान इतनी तेज बारिश हुई, हालांकि बूंदों के प्रहार से झांकियां जख्मी हुईं, लेकिन कारवां बढ़ता रहा. झांकियों की बिजली बंद थी लेकिन मेहनतकशों का हौसला कायम था. पूरी तैयारी से आए अखाड़े झांकियों के पीछे भले ही नहीं चल पाए, लेकिन कलाकारों का जोश भी कम नहीं था.अखाड़े के कलाकार बरसते पानी में भी जोशीला प्रदर्शन करते रहे. निर्णायक मंच के सामने अखाड़ों का कौशल देखने लायक था। इस दौरान प्रशासनिक और पुलिस अमला आधी रात तक पूरी मुस्तैदी के साथ तैनात रहा. कलेक्टर लोकेश जाटव ने मीडिया को बताया कि जो प्लानिंग की थी उसी तर्ज पर प्रशानिक अमला ने व्यवस्था संभाली.

वही इस दौरान इंदौर की पुलिस कप्तान एसएसपी रूचिवर्धन मिश्र ने खुद सुरक्षा इंतजामों की मॉनिटरिंग की.

कुल मिलकार इस दौरान एक से बढ़कर जाह्नकियों का कारवां निकला.प्रथम पुरूस्कार हुकुमचंद मिल को और द्वितीय पुरस्कार मालवा मिल को वही तृतीय पुरूस्कार कल्याण मिल और स्वदेश मिल को मिला.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED