बंगाल को बचाने का श्रेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को जाता है, बोले कैलाश विजयवर्गीय!

बंगाल को बचाने का श्रेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को जाता है, बोले कैलाश विजयवर्गीय!
Spread the love

इंदौर –  भारतीय राजनीति में पहले व्यक्ति जिन्होंने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने के खिलाफ आवाज बुलंद की, वो थे दिग्गज नेता और भारतीय जन संघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी। एक विधान, एक निशान औऱ एक प्रधान के मुद्दे पर पंडित नेहरू की कैबिनेट से इस्तीफा देने वाले डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आज यानि 23 जून को पुण्यतिथि है।  भाजपा इस दिन को बलिदान दिवसश के रूप में मनाती है। इस मौके पर बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद किया और उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी हमेशा देश में दो विधान, दो निशान और दो प्रधान नहीं होने की वकालत करते थे। उन्होंने कश्मीर में धारा 370 का जमकर विरोध किया था। इस दौरान 23 जून 1953 को उनकी रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई थी। जिसे लेकर बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि उनकी मौत किन परिस्थियों में हुई ये आज भी जाँच का विषय है। वही उन्होंने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बंग बचाओं आंदोलन कि वजह से बंगाल बचा है। बंगाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद नहीं करने पर कैलाश ने ममता सरकार की निंदा की।

यहां आपको बता दें बीजेपी ने कैलाश विजयवर्गीय को पश्चिम बंगाल का प्रभार सौंपा है, जहां अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। दरअसल डॉ मुखर्जी के बलिदान दिवस पर कैलाश विजयवर्गीय, विधायक रमेश मेंदोला और बीजेपी नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे सहित कई भाजपा कार्यकर्ता विजयनगर चौराहे स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा स्थल पर जुटे और उन्हें माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी।

 

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED