जबलपुर की सड़कों पर झूमते नाचते निकले किन्नर, देखते रह गए लोग !

जबलपुर की सड़कों पर झूमते नाचते निकले किन्नर, देखते रह गए लोग !
Spread the love

जबलपुर- कजलियां पर्व जबलपुर में धूमधाम से मनाया गया. घरों में एक सप्ताह तक रहने के बाद भुजरिया जिन्हें कजलियां भी कहते हैं उसे नदी में विसर्जन कर दिया गया.

सौहार्द और भाईचारे का प्रतीक कजलियां पर्व पर जबलपुर में किन्नर समुदाएं ने जुलूस निकाला. डीजे की धुन पर नाचते-गाते किन्नरों को देखने लोगों की भीड़ सड़को पर जमा हो गई. आकर्षक परिधान पहने किन्नरों को देखने के लिए लोगो का हुजूम लग गया.

बता दें कि जुलूस में जबलपुर जिले के कई किन्नर समुदाय के लोग शामिल हुए . पूर्व पार्षद और किन्नर हीरा बाई ने मीडिया से चर्चा में बताया कि देश में अमन, चैन और शांति की कामना के लिए हमने भुजरिया पर्व को पूरे धूम धाम से मनाया. वहीं जुलूस में किन्नर समुदाय के महंत संतोषी दत्त त्यागी ने देशवासियों को कजलियां पर्व की बधाई दी और कहा कि हम इस पर्व के माध्यम से भारत के लोगो के सुख समृद्धि की कामना करते हैं ताकि देश की जनता सुखी रहे.

किन्नर समाज का भुजरिया जुलूस शाम 4 बजे लकडगंज से निकलकर कई चौराहों से होकर गुजरा. इस दौरान मस्ती में नाचते गाते किन्नरों की टोली के साथ राहगीरों के भी पांव थिरकने लगे.

आपको बता दें कि किन्नरों का जुलूस कजलियां जिसे भुजरिया भी कहते हैं उसे लेकर हनुमानताल पहुंचा जहां विधि विधान से विसर्जन कर किन्नर समुदाय ने देश में शांति और सौहाद्र की कामना की.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED