शिक्षा मंत्री के पैर पकड़ रो पड़े शिक्षक दंपति, बोले- 20 महीने से नहीं मिला वेतन !

शिक्षा मंत्री के पैर पकड़ रो पड़े शिक्षक दंपति, बोले- 20 महीने से नहीं मिला वेतन !
Spread the love

ग्वालियर :- सरकारी सिस्टम और भ्रष्ट अधिकारीयों की वजह से शिक्षक की पत्नी कमलनाथ सरकार के मंत्री के पैरों पर गिरने के लिए मजबूर हो गई.और फूट फूटकर रोने लगी.

दरअसल स्कूली शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी को उस वक्त असहज स्थिति का सामना करना पड़ा जब ग्वालियर में एक बैठक के दौरान एक शिक्षक और उनकी पत्नी ने वेतन के लिए मंत्री के पैर पकड़ लिए. यही नहीं, शिक्षक दंपति ने शिक्षा मंत्री के पैर पकड़ उनसे 20 महीने से रुका हुआ वेतन दिलवाने की भी मांग की. शिक्षक ने अपनी व्यथा सुनाते हुए मंत्री से कहा कि तनख्वाह निकालने के एवज में उनसे 2 लाख रुपए रिश्वत मांगी जा रही है. मंत्री ने जैसे-तैसे स्थिति को नियंत्रित किया और शिक्षक को जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया.

बता दे कि स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभु राम चौधरी शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए मोतीमहल स्थित मान सभागार में बैठक लेने पहुंचे थे.लेकिन मंत्रीजी को शायद ये नहीं पता था कि उनके सिस्टम में बैठे अधिकारी और कर्मचारी इतने भ्रष्ट है कि शिक्षकों को उनकी मेहनत का पैसा देने के एवज में रिश्वत की मांग करते है.बहरहाल एमपी में रिश्वत मांगना कोई नई बात नहीं है लेकिन अब देखना होगा कि मंत्रीजी क्या कार्रवाई करते है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED