झाबुआ के आदिवासियों ने भरी हुंकार, बोले- जमीन का मुआवजा दे सरकार !

झाबुआ के आदिवासियों ने भरी हुंकार, बोले- जमीन का मुआवजा दे सरकार !
Spread the love

झाबुआ  –  दिल्ली से मुंबई तक 8 लेन एक्सप्रेस वे बनना है, सड़क की चैड़ाई 100 मीटर रहेगी। तो वही आदिवासी अंचल झाबुआ जिले से भी  करीब 48 किमी का एक्सप्रेस वे प्रस्तावित है। लिहाजा झाबुआ जिले में सड़क के लिए थांदला व मेघनगर तहसील के 21 गांवों की जमीन अधिग्रहित की गई है लेकिन आदिवासियों को अब तक मुआबजे का इंतजार है।

कोरोना के चलते इन आदिवासियों ने आंदोलन रद्द कर दिया था लेकिन अब बार फिर मुआबजे की मांग तेज हो गई है। इसी कड़ी में झाबुआ जिले के वड़लीपाड़ा , पंचायत भामल तहसील थांदला में निर्माणाधीन मार्ग पर सांकेतिक प्रदर्शन कर उचित मुआबजे की मांग की है। जनजाति विकास मंच एवं हिन्दू युवा जनजाति संगठन से जुड़े।

हाथों में वन्देमातरम, भारत माता की जय की तख्तियां ले कर खड़े इन आदिवासियों की मांग है की पीडियों से इन जमीनों पर वो खेती करते हुए आये है, जबकि अधिकारी सरकारी जमीन बता कर अपने कर्त्यव्य से इति श्री कर रहे है। ऐसे में आदिवासियों ने दावा किया है यह जमीन उनकी है , उन्हें एक्सप्रेस हाईवे से कोई समस्या नहीं बशर्त सरकार उन्हें उचित मुवाबजा दें। अन्यथा उन्हें उग्र आंदोलन का रुख अख्तियार करना होगा।

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED