कमलनाथ की कर्जमाफी से हज़ारों किसान हुए डिफाल्टर, नहीं मिला रहा खाद-बीज !

कमलनाथ की कर्जमाफी से हज़ारों किसान हुए डिफाल्टर, नहीं मिला रहा खाद-बीज !
Spread the love

नसरुल्लागंज: बीते साल विधानसभा चुनाव के दौरान मात्र दस दिन में कर्ज माफी का वादा कर सत्ता मंप आई कांग्रेस पर अब राज्य के किसान धोखा देने का आरोप लगा रहे हैं। किसानों का कहना है कि कांग्रेस सरकार ने किसानों को कर्ज से निकालने की बजाय उन्हे कर्ज के दलदल में फंसा दिया है। मीडिया से चर्चा करते हुए किसानों ने बताया कि सरकार ने वादा किया था दस दिन में कर्जा माफ कर देंगे जिसकी वजह से हमने 2 लाख का कर्जा जमा नहीं किया, हम डिफॉल्ट की श्रेणी में आ गए, सोसायटीओं से हमें यूरिया खाद नहीं मिल रहा और बाजार से हम खाद लेने की स्थिति में नहीं है क्योकि जो खाद सोसायटी में 267 रुपये का है, वह मार्केट में 350 रुपये में खरीदना पड़ रहा है। व्यापारियों ने लूट मचा रखी हैं, किसानों की मांग है कि जल्द से जल्द कर्जा माफ किया जाए।

जब इस मामले में हमने सहकारी बैंक अधिकारी से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि नसरुल्लागंज तहसील की सहकारी बैंक में कुल 30,454 किसान है, जिसमे से 15 हजार 985 किसान डिफाल्ट हो गए हैं, जिनसे वसूली का क्रम जारी है। वहीं सीहोर के प्रभारी मंत्री आरिफ आकिल ने कहा कि जिन किसानों को खाद बीज नहीं मिल रहा है उन्हें सरकार की तरफ से सहायता की जाएगी।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED