रोजगार के लिए आदिवासी युवा पलायन को मजबूर, भाजपा-कांग्रेस हुई आमने-सामने!

रोजगार के लिए आदिवासी युवा पलायन को मजबूर, भाजपा-कांग्रेस हुई आमने-सामने!
Spread the love

अलीराजपुर:- प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य जिले अलीराजपुर में बेरोजगारी के मद्देनजर भारी मात्रा में लोगों का पलायन देखने को मिल रहा है. वहीं एक ओर इस मामले पर प्रशासन उदासीन है, तो दूसरी ओर राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रही है.

यह पूरा मामला अलीराजपुर जिले का है जहां लोग बेरोजगारी के चलते पलायन कर रहे हैं, लोगों का कहना है कि उन्हें रोजगार नहीं मिलने के कारण वे ऐसा करने के लिए मजबूर हैं और उन्हें मजदूरी के लिए पड़ोसी राज्य गुजरात और राजस्थान जाना पड़ रहा है, जिससे वे अपने परिवार का पालन पोषण कर सकें. बहरहाल गौर करने की बात ये है कि इस सब के बावजूद भी प्रशासन इस मामले को लेकर उदासीन है.

इसके अलावा कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के नेता इस मामले को लेकर एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. इस पलायन के मामले के लिए कांग्रेस  के जिला अध्यक्ष महेश पटेल ने वर्तमान में केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को दोषी ठहराया है. उन्होंने कहा कि जब केन्द्र में मनमोहन सिंह की सरकार थी, तब रोजगार गारंटी के काम चलते थे. तो पलायन नही होता था. मगर भाजपा की सरकार ने सारी योजना बंद कर दी,जिसके कारण आज पलायन जिले से भारी मात्रा में हो रहा है.

वहीं भाजपा के जिला अध्यक्ष किशोर शाह ने इस मामले पर चर्चा में कहा कि वे इस पलायन के मुद्दे के लिए प्रदेश की कमलनाथ सरकार को जिम्मेदार मानते हैं. उन्होंने कहा कि पंचायतों के सारे काम ठप पड़े  हैं. प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने सरपंचो के सारे अधिकार छीन लिए है,जिसके कारण ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और इसी के चलते जिले में पलायन हो रहा है.

बहरहाल अब देखना है कि सरकार इस मामले की गंभीरता को देखते हुए कब रोजगार के लिए कोई ठोस कदम उठाएगी या फिर रोजगार के लिए लोगों को इसी प्रकार पलायन करना पड़ेगा.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED