उज्जैन कलेक्टर का मिशन नंबर 1, महाकाल मंदिर को देश का स्वच्छ आइकाॅनिक प्लेस का अवॉर्ड

Spread the love

कुशल नेतृत्व और मैनेजमेंट के गुरु कलेक्टर मनीष सिंह के सख्ती और कड़े मैनेजमेंट की बदौलत उज्जैन सफाई की क्षेत्र में नए प्रतिमान गढ़ने लगा है…इसकी शुरुआत हुई है उज्जैन के राजा महांकाल के दरबार से..जी हाँ श्री महाकालेश्वर मंदिर अब देश का स्वच्छ आइकॉनिक प्लेस बन गया है…गांधी जयंती पर दिल्ली में आयोजित स्वच्छ भारत दिवस समारोह में केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने महाकाल मंदिर प्रबंध समिति के प्रशासक अभिषेक दुबे और जिला पंचायत सीईओ संदीप जेआर को यह पुरस्कार प्रदान किया। वर्ष 2017-18 में स्वच्छ ऑइकॉनिक प्लेस श्रेणी का पहला पुरस्कार प्रदान किया गया है।

महाकाल मंदिर को साफ स्वच्छ बनाने के लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने कड़े कदम उठाए। मनीष सिंह वही आईएएस ऑफिसर है जिन्होंने इंदौर को दो बार देश का सबसे साफ शहर बनाने में अहम् रोल निभाया ऐसे में अब मनीष सिंह ने उज्जैन को सबसे साफ बनाने की स्क्रिप्ट लिखना शुरू कर दिया है और इसकी शुरुआत उन्होंने महाकाल मंदिर से की है…

महाकाल मंदिर देश के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक प्रमुख है। यहां नित्य प्रात: 4 से 6 बजे भस्मारती होती है और ज्योतिर्लिंग के विशेष श्रंगार होते हैं। साल में एक बार महाशिवरात्रि पर ही भस्मारती दिन में होती है। प्रतिदिन मंदिर में हजारों श्रद्धालु देश-विदेश से दर्शन के लिए आते हैं। ऐसे में अब लोगों को उम्मीदें है कि उज्जैन सफाई में नंबर वन का स्थान जरूर हांसिल करेगा…

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED