व्यापम खोटाले को लेकर कथित मास्टरमाइंड के खिलाफ पहला आरोप पत्र दायर

व्यापम  खोटाले को लेकर कथित मास्टरमाइंड के खिलाफ पहला आरोप पत्र दायर
Spread the love

मध्य प्रदेश .प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को मध्यप्रदेश के व्यापम घोटाले के मामले में आरोपपत्र दर्ज़ किया और  इसमें धन शोधन विरोधी कानून के अंतर्गत कथित मास्टरमाइंट डॉक्टर जगदीश सागर और अन्य को दोषी करार दिया.  एजेंसी ने अनुसार सागर के अलावा, श्री अरविंद आयुर्विज्ञान संस्थान के पूर्व चेयरमैन डॉक्टर विनोद भंडारी और अन्य का नाम भी आरोपपत्र में आरोपी के रूप में दर्ज किये गए हैं .  यह शिकायत यहां पीएमएलए (विशेष धन शोधन रोकथाम कानून) अदालत के सामने दायर की गई.

इस मामले में ईडी का यह पहला आरोपपत्र है और आगे भी आरोपपत्र जाहिर होंगे क्यूंकि मामले की जांच अभी खत्म नहीं होगी.  केंद्रीय जांच एजेंसी के क्षेत्रीय कार्यालय ने यहां मार्च 2014 में मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल घोटाले के संबंध में कथित वित्तीय अनियमितताओं और धन शोधन की घटनाओं की जांच के लिये प्राथमिकी दर्ज की थी.

यह मामला अधिकारियों और नेताओं की कथित सांठगांठ से पेशेवर पाठ्यक्रमों और राज्य सेवाओं में अभ्यर्थियों और छात्रों के प्रवेश से जुड़ा है.  उसने इस मामले में अब तक 13.95 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है. सीबीआई इस मामले में जांच कर रही है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED