इंदौर में भजन गाकर किया काशी महाकाल एक्सप्रेस का WEL-COME, भगवान शंकर के लिए आरक्षित है सीट !

इंदौर में भजन गाकर किया काशी महाकाल एक्सप्रेस का WEL-COME, भगवान शंकर के लिए आरक्षित है सीट !
Spread the love

इंदौर:  रविवार को वाराणसी से रवाना हुई काशी महाकाल एक्सप्रेस सोमवार सुबह इंदौर पहुंची। इंदौर रेलवे स्टेशन पर इस ट्रेन का स्वागत भजन गाकर किया गया। इस ट्रेन में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित है। वाकई में ये ट्रेन आध्यात्मिक अनुभूति देगी…काशी महाकाल एक्सप्रेस  को 16 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दोपहर 2.45 बजे वाराणसी से हरी झंडी दिखाकर इंदौर के लिए रवाना किया था. जब ये ट्रेन इंदौर पहुंची तो रेलवे स्टेशन पर भजन गाकर ट्रेन का स्वागत किया..  महाकाल एक्सप्रेस यात्रियों को आध्यात्मिक अहसास भी कराएगी. महाकाल एक्सप्रेस की बोगी नंबर बी-5 में सीट नंबर 64 भगवान  शिव के लिए आरक्षित रहेगी. इस ट्रेन की एक सीट छोटे मंदिर के तौर पर तब्दील कर दी गई है.

महाकाल एक्सप्रेस में धार्मिक यात्रियों का खास ख्याल रखा गया है. इसमें चलने वाले यात्रियों के मनोरंजन और अध्यात्मिक अहसास के लिए भजन-कीर्तन का आयोजन भी किया जा रहा है. शुरुआती दिन में एक मंडली जाएगी, जो भजन-कीर्तन गाएगी. इसके बाद 20 फरवरी को भी एक मंडली का आयोजन होगा. इसके बाद लगातार कैसेट के जरिए अनांउसमेंट के जारिए लोग भजन-कीर्तन सुन सकेंगे. ये ट्रेन 20 फरवरी से आम यात्रियों के लिए शुरू की जाएगी. काशी महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन की खासियत है कि इस ट्रेन में यात्रियों के लिए यात्रा के दौरान सभी जरूरी सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है. काशी महाकाल एक्सप्रेस के हर यात्री को 10 लाख रुपये का यात्रा बीमा भी उपलब्ध कराया जाएगा.

यह ट्रेन लखनऊ, कानपुर, बीना, भाेपाल, उज्जैन होते हुए इंदौर तक पहुंची। इस ट्रेन के हर कोच में 5 सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। ट्रेन मेंं कुल 1080 सीटें है। न्यूनतम किराया 1629 रु. होगा। यह ट्रेन आम जनता के लिए 20 फरवरी से शुरू होगी। काशी-महाकाल एक्सप्रेस में आठ अलग-अलग तीर्थस्थलों के लिए पैकेज भी होगा.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED